2.15.35 Are cows being “eliminated” in India, under the guise of saving them?

Article from Kapil Bajaj

क्या आर.एस.एस. प्रचारक नरेंद्र मोदी मनुष्यों और गौवंश का महासंहार कर रहा है?

क्या फ़र्ज़ी बीमारी और गेट्स-रॉकफ़ेलर-वेलकम ट्रस्ट-WEF क्रिमिनल गैंग की ज़हरीली “वैक्सीनों” के ज़रिए मोदी दसियों-लाख (millions) भारतीयों को क़त्ल कर रहा है और क्या वह समाज का महाविनाश कर रहा है?

फ़र्ज़ी बीमारियों और ज़हरीले इंजेक्शनों ही को हथियार बना कर क्या मोदी भारत की पशु सम्पदा — गाय, भैंस, बकरी वग़ैरह — का भी महाविनाश कर रहा है?

क्या पशुओं को टैगिंग (tagging) द्वारा ज़ख़्मी किया जा रहा है; प्रत्येक पशु को भी “आधार” नंबर दिया जा रहा है — क्या प्रत्येक मनुष्य को डिजिटल आइडेंटिटी देकर और उसका सम्पूर्ण डाटा (data) जमा कर के उस पर सदा के लिए सर्वेलंस (surveillance) और ट्रैकिंग (tracking) थोपी जा रही है?

पढ़िए C400T @c400_t की कष्टसाध्य खोजबीन जिसे उन्होंने 14 मार्च 2022 को पोस्ट किए गए अपने एक ट्विटर थ्रेड (Twitter thread) में शामिल किया है.

कपिल बजाज

dragada.com/kbforyou

Is this a “A Manufactured Plague” and Modi government’s “vaccination” war on innocent cattle?

1. पोलियो उन्मूलन की तर्ज पर पशुओं को लगेंगे मुंहपका-खुरपका रोग (फ़ुट एंड माउथ डिज़ीज़/FMD) व गलघोटू के टीके

इस अभियान को चलाकर प्रत्येक पशु का टीकाकारण किया जाएगा। डी.सी. डॉक्टर आदित्य दहिया ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के “विजन” को पूरा करने के लिए ही यह अभियान शुरू किया गया है।

https://tinyurl.com/2p8mc9re

2. टीका करण के लिए अब भेड़-बकरियों के भी बनेंगे आधार कार्ड

दस डिजिट का आधार भेड़ और बकरी को अलग पहचान देगा। भेड़-बकरी अपने आधार नंबर का छल्ला कान में पहनेंगी।

https://tinyurl.com/bdzf3nx5

3. FMD vaccination camp for cattle begins

Camps are being organized all across India at village and district level for the last five years.

https://tinyurl.com/44xy2x6x

4. ज़िला कोरबा (छत्तीसगढ़) के पोड़ी-उपरोडा ब्लाक की ग्राम पंचायत कोरबी में एक सप्ताह के भीतर 50 से अधिक मवेशियों की मौत हो गई है। 100 से अधिक मवेशियों की हालत बिगड़ गई है। 14 जुलाई को पशु चिकित्सकों ने गांव में मवेशियों का टीकाकरण किया था। इसके बाद से ही गोवंशों की तबीयत बिगड़ने लगी।

https://tinyurl.com/2s47nxhd

5. Cows are dying mysteriously in India and a vaccine might be to blame.

NIAH tested samples from 52 batches of vaccine provided to the FMD Control Programme by three companies; none of the batches had the required stability and 10 failed the standard for sterility.

https://tinyurl.com/y4tekkpe

6. Vaccination against Foot & Mouth Disease: Punjab halts drive as Hyderabad firm’s vaccine fails quality test.

M/S Biovet has communicated that they would recall all their FMD vaccine batches supplied to all the states/UTs.

https://tinyurl.com/3pevwtf5

7. Biovet to expand FMD vaccines manufacturing facility with Rs 200 crore investment.

Biovet is the first Biosafety Level 3-PlusAg Vaccine manufacturing facility in India and the 2nd company in the world.

https://tinyurl.com/msj73tcv

8. बरेली में खुला पशु टीकाकरण का राज, आठ लाख पशुओं को लगाई गुणवत्ता-विहीन वैक्सीन, कई की हुई मौत.

https://tinyurl.com/422xnfu7

9. Modi govt lost hundreds of crores on faulty shots for cows in 2019/20.

Modi govt programme to vaccinate livestock for FMD hit a wall in 2020 after all the vaccine batches were recalled from states/UTs over quality concerns.

https://tinyurl.com/5adp58ue

10. ज़िला कन्नौज (उत्तरप्रदेश) के विकास खंड तालग्राम के गांव अमोलर में आठ दिनों में 10 मवेशियों की खुरपका व मुंहपका बीमारी से मौत हो चुकी है। दस से अधिक मवेशी अभी भी बीमार हैं। इससे पशुपालक दहशत में हैं। उनका कहना है कि टीका लगने के बाद भी मवेशी मर रहे हैं।

https://tinyurl.com/2p859fjz

11. No case of FMD has been confirmed till now. Even in the samples sent to Pune, no virus could be isolated.

Still veterinary officers in charge have urged the dairy farmers to get their animals vaccinated against FMD as a “precaution”.

https://tinyurl.com/bdzf83h9

12. अपने पशुओं को क्यों खुरपका-मुंहपका का टीका नहीं लगवाना चाह रहे हैं पशुपालक?

https://tinyurl.com/4zdb8szs

13. खतरनाक (काल्पनिक!) विषाणुओं के संक्रमण से बचाने के लिए बकरियों को लगाया जाएगा पीपीआर वैक्सीन का टीका

https://tinyurl.com/5derssj4

14. टैगिग के बाद पशुओं के लिए नेशनल डाटा बेस (आधार कार्ड) तैयार होगा। टीकाकरण, पशु हाट में पशुओं की खरीद बिक्री की जानकारी, तथा पशु के अवैध व्यापार को रोकने में सुविधा मिलेगी।https://tinyurl.com/3cdx3bn2

15. मुज़फ़्फ़रपुर (बिहार) में पशुपालकों ने चिकित्सकों को सात घंटे तक रस्सी से बांध बनाया बंधक

इस मामले में स्थानीय ग्रामीणों का कहना था कि ईयर टैगिंग के गहरे जख्म के कारण उनके मवेशियों ने खाना-पीना काफी कम कर दिया, बीमार पड़ गये और कई मर भी गए.

https://tinyurl.com/3nrbvmwp

16. जगदलपुर (छत्तीसगढ़) के आड़ावाल जनपद के उपाध्यक्ष सुब्रतो विश्वास के अनुसार चिकित्सकों की टीम ने बीमार मवेशियों की जगह स्वस्थ मवेशियों का वैक्सीनेशन कर दिया जिसके बाद उनकी हालत बिगड़ी और मवेशियों की मौत हो गई, और कई मवेशी गंभीर रूप से बीमार हैं.

https://tinyurl.com/59cdrakn

17. A classic example where cattle die after “vaccination”, but no one is allowed to question “vaccination”.

“हमारी टीम गांव में लगातार कैंप लगाकर पशुओं की जांच एवं टीकाकरण करवा रही है। हालांकि पशु बीमारी के चलते कुछ पशुओं की मौत भी हुई है।”

(डॉ. घनश्याम गहलोत)

https://tinyurl.com/32px5jsm

18. Coincidence or premeditated murder?

राजस्थान: FMD टिका गुणवत्ता की खामी से टीकाकरण अभियान एक बार फिर से बीच में रोकना पड़ा है. जबकि टीकाकरण अभियान खत्म होने में केवल एक दिन का समय बचा था. अभियान के तहत 18 जिलों के ज्यादातर पशुओं को टीके लगाए जा चुके हैं.

https://tinyurl.com/2fpan5v6



A sarcastic take on the current grim situation.

1. गाय बीमारियां फैलाती है और वायुमंडल में “मीथेन” छोड़ती है जिससे “ग्लोबल वार्मिंग” होती है.

a. https://timeforchange.org/are-cows-cause-of-global-warming-meat-methane-CO2/

b. World Milk Day is celebrated with different themes each year. In 2022, this day will follow the theme of achieving “Dairy Net Zero”.

This means that the day aims to reduce greenhouse gas emissions by the dairy industry over the next 30 years. The theme also marks the need to improve waste management in the dairy sector in order to make the industry more sustainable.

https://www.ndtv.com/world-news/world-milk-day-2022-heres-the-date-theme-and-significance-of-the-day-3027883

c. ‘Why the holy cow is dangerous for Mother India and the world,’ DailyO, October 2015

https://www.dailyo.in/politics/indian-cows-flatulent-global-warming-cow-worship-haryana-milch-beef-6670

2. इसलिए गाय को CIA-गेट्स-रॉकफ़ेलर-वेलकम ट्रस्ट-WEF की “वैक्सीन” लगा कर “रिटायर” करने की ज़रूरत है.

a. Inside India’s animal healthcare: The vaccine makers eyeing Rs 13,343 crore programme

https://www.businesstoday.in/industry/pharma/story/inside-india-animal-healthcare-the-vaccine-makers-eyeing-rs-13343-crore-programme-258943-2020-05-21

b. Cows are dying mysteriously in India and a vaccine might be to blame

NIAH tested samples from 52 batches of vaccine provided to the FMD Control Programme by three companies; none of the batches had the required stability and 10 failed the standard for sterility.

https://tinyurl.com/y4tekkpe

c. बरेली में खुला पशु टीकाकरण का राज, आठ लाख पशुओं को लगाई गुणवत्ता-विहीन वैक्सीन, कई की हुई मौत

https://tinyurl.com/422xnfu7

d. Modi govt lost hundreds of crores on faulty shots for cows in 2019/20

Modi govt programme to vaccinate livestock for FMD hit a wall in 2020 after all the vaccine batches were recalled from states/UTs over quality concerns.

https://tinyurl.com/5adp58ue

e. ज़िला कन्नौज (उत्तरप्रदेश) के विकास खंड तालग्राम के गांव अमोलर में आठ दिनों में 10 मवेशियों की खुरपका व मुंहपका बीमारी से मौत हो चुकी है। दस से अधिक मवेशी अभी भी बीमार हैं। इससे पशुपालक दहशत में हैं। उनका कहना है कि टीका लगने के बाद भी मवेशी मर रहे हैं।

https://tinyurl.com/2p859fjz

3. गाय के दूध की ज़रूरत वैज्ञानिकों द्वारा “लैब” में संश्लेषित अधिक “पौष्टिक” दूध से पूरी हो जाएगी.

When it comes to dairy replacements, there are two options. There are plant-based milks and there is cell-based milk, which is just like dairy but without the animals, Bosworth says.

Unlike plant milks on the market, a cell-based milk would taste and behave, chemically, like a dairy product.

4. प्रोटीन की ज़रूरत कीड़े मकोड़ों से पूरी हो जाएगी.

Arguing that humans have been historically entomophagous, a team from Ashoka Trust For Research In Ecology And The Environment (ATREE) has developed chocolate chip cookies mixed with crickets for human consumption.

The scientists’ intention is to normalise the practice of insect-eating as their studies project food security will be a major global challenge in future.

https://timesofindia.indiatimes.com/city/bengaluru/bengaluru-atree-scientists-develop-cricket-cookies-say-insect-eating-may-address-food-shortage/articleshow/93684670.cms

5. (वैसे कॉकरोच की एक क़िस्म है जिसके “दूध” में गाय के दूध से चार गुणा अधिक “ऊर्जा” होती है!)

The insect liquid takes the form of protein crystals in the guts of baby cockroaches.

“The protein crystals are milk for the cockroach infant. It is important for its growth and development,” said Leonard Chavas, one of the scientists behind the research.

He explained the crystals have a whopping three times the energy of an equivalent mass of buffalo milk, about four times the equivalent of cow’s milk.

https://edition.cnn.com/2016/07/27/health/cockroach-milk/index.html

6. बक़ौल दैनिक भास्कर, “2030 तक भोजन उगाने से परोसने तक की विधि अप्रत्याशित तौर पर बदल चुकी होगी; ये काम इंजिनियरों और वैज्ञानिकों के ज़रिए होगा.”

Dainik Bhaskar, 01 June 2022 (See this clipping)

7. इसीलिए तो मोदी जी WEF का “फ़ूड इन्नोवेशन हब” (Food Innovation Hub) बनवा रहे हैं भारत में गेट्स फ़ाउंडेशन की मदद से!

More than 20 organizations are leading on the Food Innovation Hubs with work already underway in Colombia, India, Europe, ASEAN and several countries in Africa.

The Gates Foundation has provided multi-year support for the development of a Food Innovation Hub in India and several public and private sector partners have committed in-kind resources to support the development of Hubs in various regions.

https://www.weforum.org/press/2021/01/food-innovation-hubs-put-farmers-at-head-of-the-table-for-systems-change

8. 2030 तक तो इन्सान के बच्चों का उत्पादन भी इंजिनियरों और वैज्ञानिकों के ज़रिए होगा.

9. दुनिया का सारा काम आर्टिफ़िशल इंटेलिजेंस (AI) और रोबोट करेंगे.

इसलिए इन्सानों की भी कोई ख़ास ज़रूरत नहीं रहेगी.

a. https://www.youtube.com/watch?v=7FzNUc-ZFv4

b. Top World Economic Forum adviser Yuval Noah Harari has declared in a recent interview that the “vast majority” of the world’s 7.5 billion people are simply no longer needed due to technological advances in artificial intelligence, machine learning and bioengineering.

10. तभी तो इन्सानों को भी CIA-गेट्स-रॉकफ़ेलर-वेलकम ट्रस्ट-WEF की “वैक्सीन” लगा कर “रिटायर” करने का काम चल रहा है!

Ballpark Estimate: Covid Injections Have Killed 5 to 12 million People Worldwide

11. 2030 तक भारत में रहने वाले करोड़ों इन्सान “रिटायर” हो चुके होंगे. (मोदी जी स्टिज़रलैंड के पहाड़ों में तपस्या करने जा चुके होंगे.)

जो इन्सान बचेंगे वो कुछ भी “ओन” (own) नहीं करेंगे, फिर भी हमेशा “हैप्पी” रहेंगे.

12. महान सनातन संस्कृति भी यही है: न कुछ तेरा, न कुछ मेरा, फिर भी सच्चिदानंद!

(वो श्लोक है ना: कर्मण्येवाधिकारस्ते……)

मोदी जी इसी दिशा में काम कर रहे हैं – बिल गेट्स, रॉकफ़ेलर, WEF वग़ैरह के साथ मिलकर.

https://www.narendramodi.in/worldeconomicforum_home

https://www.narendramodi.in/prime-minister-narendra-modis-interaction-with-mr-bill-gates-549648

13. मतलब 2030 तक “नेट ज़ीरो” और “सस्टेनेबल डेवलपमेंट” भी करवा देंगे… “सबका साथ सबका विकास” भी हो जाएगा… “न्यू वर्ल्ड ऑर्डर” भी ले आएँगे… “वसुधैव कुटम्बकम” भी हो जाएगा… “ग्रेट रीसेट” भी संपन्न करवा देंगे… भारत “विश्वगुरु” भी बन चुका होगा… भारतवासी बिना कुछ “ओन” किए “हैप्पी” भी हो जाएंगे… महान सनातन संस्कृति की जय जयकार भी हो जाएगी…

a. https://www.ndtv.com/india-news/cop26-india-will-by-2030-5-promises-pm-modi-made-at-climate-summit-2596263

b. https://www.ndtv.com/india-news/pm-narendra-modi-new-world-order-emerging-after-pandemic-big-role-for-india-2360605

14. भारत माता की जय!

(वैसे गऊ माता की भी जय… बस गऊ माता को अपने “बिहेवियर” को थोड़ा “सस्टेनेबल” करने की ज़रूरत है!)

वंदे मातरम्!

जय श्रीराम!

जय सनातन संस्कृति!

कपिल बजाज

dragada.com/kbforyou

 806 total views,  5 views today

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply